रविवार, 13 अप्रैल 2008

तुझको जब मैं याद करूँ तो

तुझको जब मैं प्यार करूँ तो
ऐसे तुझको प्यार करूँ प्यार मैं
आईने से तू कुछ न पूछे
मेरी आंखो से तू ख़ुद को देखे

तुझको जब मैं याद करूँ तो
ऐसे तुझको याद करूँ मैं
मैं हर पल ख़ुद से पूछूँ
कौन हूँ मैं, क्या नाम है मेरा

तेरा जब मैं नाम लूँ तो
ऐसे तेरा नाम लूँ मैं
साँसे मेरी मुझसे ये पूछे
क्यों हमको ऐसे भुला है तू

अपने दिल से जब मैं बात करूँ तो
बस तेरी आवाज़ यूं आए
धड़कन मेरी खामोश हो सारी
तेरी बस बातें वो सुनाये


तुझको जब मैं प्यार करूँ तो ...
-तरुण

1 टिप्पणी:

  1. तेरा जब मैं नाम लूँ तो
    ऐसे तेरा नाम लूँ मैं
    साँसे मेरी मुझसे ये पूछे
    क्यों हमको ऐसे भुला है तू

    wah wah.Bahut khoob likha hai aapne.

    उत्तर देंहटाएं